Wednesday, May 22, 2024
Homeकोविड-19पहल: धर्मशाला में राज्य का पहला ड्राइव-इन कोविड टेस्टिंग सेंटर

पहल: धर्मशाला में राज्य का पहला ड्राइव-इन कोविड टेस्टिंग सेंटर

डीसी डॉ. निपुण जिंदल ने किया शुभारंभ, पर्यटकों सहित आम लोगों को मिलेगी सुविधा,पर्यटन कारोबारियों, दुकानदारों के लिए विशेष कोविड टेस्टिंग अभियान शुरू

धर्मशाला,1जुलाई: धर्मशाला में प्रदेश का पहला ड्राइव-इन कोविड टेस्टिंग सेंटर खोला गया है। इसमें पर्यटकों सहित आम लोगों को भी कोविड टेस्ट की बेहतर सुविधा मिलेगी। ड्राइव इन कोविड टेस्टिंग केंद्र का शुभारंभ करते हुए उपायुक्त डॉ.निपुण जिंदल ने कहा कि कांगड़ा जिला के प्रमुख पर्यटन स्थलों और शहरों में ड्राइव इन कोविड सेंटर चरणबद्व तरीके से खोले जाएंगे। इन केंद्रों पर प्रातः नौ बजे से लेकर दोपहर एक बजे तक कोविड सेंपल लिए जाएंगे और रिपोर्ट की सूचना संपर्क नंबर के माध्यम से 15 से बीस मिनट के भीतर दी जाएगी।

धर्मशाला में ड्राइव-इन कोविड सेंटर का शुभारंभ करते डीसी डॉ. निपुण जिंदल

डीसी डॉ. निपुण जिंदल ने कहा कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण के साथ-साथ नियमित टेस्टिंग भी जरूरी है ताकि संक्रमण समाज में नहीं फैल सके। उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिला में 10 जुलाई तक विशेष कोविड टेस्टिंग अभियान भी वीरवार से आरंभ किया गया है जिसमें पर्यटन कारोबार से जुड़े सभी लोगों की टेस्टिंग का प्लान स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से तैयार किया गया है। इसके साथ ही जिला भर में व्यापार मंडलों के माध्यम से दुकानदारों की भी टेस्टिंग की जाएगी इसके अतिरिक्त टैक्सी चालकों के भी नियमित तौर पर कोविड टेस्टिंग की जाएगी।

उन्होंने कहा कि ड्राइव इन टेस्टिंग सेंटर मुख्य मार्ग के किनारे खोले गए हैं ताकि इन मार्गों से वाहनों में गुजरने वाले लोगों को कोविड टेस्टिंग की त्वरित सुविधा दी जाएगी इसमें वाहनों की आवाजाही किसी भी स्तर पर प्रभावित नहीं हो उस के लिए भी ट्रेफिक पुलिस द्वारा भी पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। उन्होंने कहा कि धर्मशाला जिला का मुख्यालय होने के कारण यहां पर रोजाना कर्मचारी और दुकानदार सैकड़ों की संख्या में आते हैं । उनको कोविड टेस्टिंग काउंटर पर ही सेंपल देने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि अब ग्रामीण स्तर पर भी कोविड को लेकर रेंडम सेंपलिंग की जाएगी ताकि प्रारंभिक स्तर पर ही संक्रमण को रोका जा सके।

डॉ. निपुण जिंदल ने कहा कि अब लॉकडाउन और कर्फ्यू इत्यादि की बंदिशों से लोगों को राहत दे दी गई है इसलिए सार्वजनिक स्थलों पर सामाजिक दूरी की अनुपालना सुनिश्चित करने के लिए भी नागरिकों को अपनी रचनात्मक भूमिका निभानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि अभी भी कोविड से बचाव की जरूरत है। कोविड की संभावित तीसरी लहर से बचने के लिए प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं जबकि लोगों को भी कोविड प्रोटाकॉल का पूरा ध्यान रखना चाहिए उन्होंने कहा कि अब ग्रामीण स्तर पर भी कोविड को लेकर रेंडम सेंपलिंग करने के निर्देश दिए गए हैं इसके साथ ही कोविड संक्रमितों की संपर्क सूची के आधार पर भी सुचारू टेस्टिंग के लिए स्वास्थ्य विभाग को कहा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

× How can I help you?