Wednesday, May 22, 2024
Homeखासतीन दिन के भीतर पुनः बहाल करें स्पोर्ट्स एंड कल्चरल कोटा: अभाविप

तीन दिन के भीतर पुनः बहाल करें स्पोर्ट्स एंड कल्चरल कोटा: अभाविप

दी उग्र आंदोलन की चेतावनी,ऑनलाइन कॉलेज एडमिशन में आ रही प्रदेश के लाखों छात्रों की समस्या को लेकर भी भड़की अभाविप

शिमला,29 जुलाई: 24 जुलाई से प्रदेश की शिक्षा में ज्वलंत मुद्दे के रूप में हर छात्र और हर युवा में ट्रेंड कर रहे स्पोर्ट्स एंड कल्चरल कोटा को फिर से लागू करने के लेकर आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने उच्च शिक्षा निदेशालय शिमला में कार्यालय के बाहर शिक्षा विभाग और प्रदेश सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन कर रोष व्यक्त किया।
प्रांत मंत्री विशाल वर्मा ने कहा कि प्रदेश के महाविद्यालयों में 26 जुलाई से प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो गई है जिसमें सरकार और शिक्षा विभाग ने “स्पोर्ट्स एंड कल्चरल” कोटा को खत्म कर युवाओं के साथ खिलवाड़ किया है अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद इस निर्णय का कड़े शब्दों में निंदा करती है इस दौरान विशाल वर्मा ने छात्रों और मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि विश्व के सभी देश खेल को बढ़ावा देने का काम कर रहे है और भारत सरकार भी खेल के क्षेत्र में नए-नए आयाम और प्रतिदिन नए-नए प्रयोग कर रही हैं ताकि विश्व में खेल के क्षेत्र में देश का नाम रोशन हो सके और युवाओं का सर्वांगीण विकास हो सके। वर्तमान में टोक्यो ओलंपिक में विश्व के सामने भारत देश का नाम रोशन कर रहे हिमाचल प्रदेश के भी युवा है जो सभी प्रदेशवासियों के लिए गर्व का विषय है, लेकिन प्रदेश सरकार द्वारा ऐसे समय में खेल को और अधिक बढ़ावा देने के बजाय शिक्षा क्षेत्र में स्पोर्ट्स एंड कल्चरल कोटा को खत्म करना दुर्भाग्यपूर्ण है और प्रदेश के हजारों खिलाड़ी इस निर्णय से हताश है।
विशाल ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा निदेशक के तौर पर ऐसे ऊंचे पद पर ऐसे घमंडी अधिकारी को पदभार दिया गया है जो न छात्रों से बात करना चाहते हैं और न ही उन्हें छात्रों के भविष्य की चिंता है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने कहा कि उनका रवैया छात्रों के प्रति एकदम नकारात्मक है जिसका परिणाम इस प्रकार के छात्रविरोधी निर्णयों को लेने के बाद स्पष्ट होता है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने प्रशासन और सरकार को तीन दिवसीय अल्टीमेटम देते हुए चेतावनी दी है कि यदि महाविद्यालय में चल रहे प्रवेश में “स्पोर्ट्स एंड कल्चरल” कोटा फिर से लागू नहीं किया गया तो आम छात्रों को लामबंद करते हुए प्रदेश के हर महाविद्यालय में आंदोलन को तेज किया जायेगा और घमंडी अधिकारी को शिक्षा निदेशालय में प्रवेश नहीं लेने दिया जाएगा।
ऑनलाइन एडमिशन में आ रही छात्रों को समस्या: 
 उन्होंने कहा कि महाविद्यालय में प्रवेश 26 जुलाई से चल रहे है और यह कोटा फिर से लागू होना इस दौरान आवश्यक है ताकि किसी भी खिलाड़ी को शिक्षा या खेल से दूर न रहना पड़े। उन्होंने कहा की ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से विभाग द्वारा दाखिले देने का फरमान दिया गया है जिस कारण अधिकांश क्षेत्रों में छात्रों को बरसात के दौरान घर दूर पहुंचकर कैफे में फॉर्म भरना पड़ता है लेकिन दूर कैफे में पहुंचने के बावजूद भी ऑनलाइन दाखिले की वेबसाइट में आ रही अनियमितताओं के कारण छात्रों को एडमिशन लिए बिना ही हताश होना पड़ रहा है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद मांग करती है कि ऑनलाइन व्यवस्था को भी सुदृढ़ किया जाए और साथ में प्रत्यक्ष तौर पर भी दाखिले का माध्यम सुनिश्चित किया जाए और 3 दिन के अंदर महाविद्यालय के दाखिले में “स्पोर्ट्स एंड कल्चरल” कोटा को पुन: लागू किया जाए अन्यथा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद आने वाले समय के उग्र आंदोलन करने से भी गुरेज नहीं करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

× How can I help you?