Wednesday, May 22, 2024
Homeखासहिमाचल पर्यटन अब नई सोच व नई दिशा की ओर..

हिमाचल पर्यटन अब नई सोच व नई दिशा की ओर..

शिमला,6 जुलाई:  कोरोना महामारी की वजह से बुरी तरह प्रभावित हुए पर्यटन कारोबार को बढ़ाने के लिए पर्यटन निगम की ओर से अब कई नए पहलुओं पर काम किया जा रहा है। पर्यटन निगम के तहत आने वाले प्रदेश के सभी होटलों में पहाड़ी थाली की शुरुआत होने जा रही है जिसके लिए विशेष तौर पर थाली भी यमुनानगर से मंगाई जा रही हैं। अब जल्द ही पर्यटन निगम के होटलों में पहाड़ी व्यंजनों का पर्यटक मंडियाली धाम, कांगड़ी धाम और चंबियाली धाम का स्वाद चख सकेंगे और खास बात यह है कि इसके लिए सिर्फ 180 रुपये  पर्यटकों को चुकाने  होंगे।

पहाड़ी सिड्डु का भी मिलेगा जायका :

पर्यटन निगम के होटलों से पर्यटकों के साथ स्थानीय लोग पहाड़ी सिड्डु का भी मजा ले सकेंगे । इसके लिए पर्यटन निगम की ओर से पहाड़ी सिड्डु के लिए टेक-अवे सर्विस शुरू करने जा रही है। केवल 80 रुपए के मामूली दाम में लोग पहाड़ी सिड्डु का जायका ले सकेंगे।

एचपीटीडीसी के होटल-कैफे को नुकसान से उबारने की हो रही कोशिश:

पर्यटन निगम के मैनेजिंग डायरेक्टर अमित कश्यप ने जानकारी देते हुए कहा कि कोरोना के कारण पर्यटन क्षेत्र पर नकारात्मक प्रभाव पड़ा है। हिमाचल प्रदेश की जीडीपी में पर्यटन का 7 फीसदी हिस्सा है।  कोरोना की वजह से पर्यटन कारोबार पूरी तरह प्रभावित हुआ। उन्होंने कहा कि एचपीटीडीसी के 53 होटल और 17 कैफे को नुकसान से उबारने की कोशिश जारी है। वहीं

एचपीटीडीसी के होटलों में 30 से 40 फीसदी डिस्काउंट:

पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए पर्यटन निगम की ओर से सभी एचपी-टीडीसी के सभी होटल में 30 फीसदी का डिस्काउंट दिया जा रहा है।  इसके अलावा प्रदेश के दूरदराज इलाकों में बने होटल में विभाग की ओर से 40 फीसदी डिस्काउंट दिया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

× How can I help you?