Saturday, May 18, 2024
Homeधर्म/संस्कृतिमंदिर व अन्य धार्मिक स्थलों में श्रद्धालु कर सकते हैं भीतर प्रवेश...

मंदिर व अन्य धार्मिक स्थलों में श्रद्धालु कर सकते हैं भीतर प्रवेश : जिलाउपायुक्त

भक्त कर सकते हैं पूजा,हवन मिली लंगर व अन्य धार्मिक समारोहों को करने की अनुमति

लंबे समय से मंदिर के भीतर प्रवेश कर अपने आराध्य के दर्शनों का इंताज़र कर रहे श्रद्धालुओं को आखिरकार मंदिर में अंदर जाने की अनुमति मिल गई लेकिन भक्तों को अभी भी कोरोना के बचाव की सभी गाइडलाइंस का पालन करना होगा। जिलाउपायुक्त शिमला आदित्य नेगी ने अतिरिक्त मुख्य भाषा कला संस्कृति विभाग द्वारा जारी आदेशों के तहत जिला में श्रद्धालुओं को धार्मिक स्थलों और मंदिरों में दर्शन, पूजा, भजन करने की अनुमति प्रदान करने के आदेश दिए है।

उन्होंने कहा कि विवाह, मुंडन समारोह भी धार्मिक परिसरों में किए जा सकेंगे। श्रद्धालु दर्शनों के लिए विभिन्न मंदिरों व धार्मिक स्थलों के गर्भ गृह में भी जा सकेंगे। उन्होंने बताया कि स्थानीय स्थितियों व जगह की उपलब्धता को देखते हुए गर्भ गृह में श्रद्धालुओं को दर्शनों को भेजने के लिए संख्या स्थानीय मंदिर न्यासियों या अधिकारियों द्वारा निर्धारित की जाएगी।

मंदिर में हवन पूर्व की भांति किए जाएंगे। मंदिरों में सूखा और बंद पैकेट प्रसाद मंदिर परिसर के अंदर ही मान्य होगा। चुन्नी, झण्डा,  नारियल भी चढ़ा सकते हैं। जगह व श्रद्धालुओं के बैठने की संख्या के आधार पर कोविड-19 के तहत जारी मानकों की अनुपालना के तहत लंगर अथवा भंडारे की अनुमति भी प्रदान की गई है। सरायं तथा धार्मिक स्थलों में रात्रि ठहराव भी किया जा सकता है।

उन्होंने बताया कि श्रद्धालु व धार्मिक स्थलों व मंदिर न्यास समितियों के अधिकारियों व पदाधिकारियों तथा पुजारी इस दौरान कोविड-19 के तहत जारी किए गए मानक संचालनों का कढ़ाई से पालन आवश्यक करें, जिसके तहत चेहरे को मास्क से पर्याप्त रूप से ढकना, मंदिर परिसर की सैनेटाईजेशन और स्वच्छता, परस्पर दो गज की दूरी बनाए रखना शामिल है। अवहेलना करने वालों के प्रति कठोर कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

× How can I help you?