Wednesday, May 22, 2024
Homeकोविड-19प्रदेश में कोविड की दूसरी लहर अधिक घातक:स्वास्थ्य विभाग

प्रदेश में कोविड की दूसरी लहर अधिक घातक:स्वास्थ्य विभाग

दूसरी लहर में दर्ज किए गए 8 गुना अधिक मामले, घर पर होने वाली मृत्यु दर में भी हुई वृद्धि

शिमला:  हाल ही में प्रदेश में कोविड-19 की पहली और दूसरी लहर के लिए किए गए विश्लेषण के अनुसार दूसरी लहर पहली से अधिक घातक साबित हुई है। पहली लहर के दौरान प्रदेश में मार्च, 2020 में कोविड का पहला मामला दर्ज होने के बाद से 23 फरवरी, 2021 तक 58403 मामलों के मुकाबले दूसरी लहर में चार मई, 2021 तक 1,35,521 मामले दर्ज किए गए। पहली लहर में औसतन 171 मामले प्रतिदिन दर्ज किए गए जबकि दूसरी लहर में लगभग 8 गुना अधिक औसतन 1342 मामले प्रतिदिन दर्ज किए गए।
स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि दूसरी लहर में मामलों में पाॅजिटिविटी दर बढ़ कर दोगुनी से भी अधिक हो गई है। दूसरी लहर में कोविड-19 के कारण 2262 लोगों की मृत्यु दर्ज की गई जबकि पहली लहर के दौरान 982 लोगों की मृत्यु हुई थी। प्रदेश में कोविड-19 से हुई कुल मृत्यु में से 69.7 प्रतिशत मृत्यु दूसरी लहर के दौरान हुई है। मरने वालों की औसतन आयु पहली लहर में 64.2 वर्ष थी, जबकि दूसरी लहर में यह औसतन आयु घट कर 61 वर्ष दर्ज की गई है। पहली लहर के दौरान 1.68 प्रतिशत मृत्यु दर दर्ज की गई, जबकि दूसरी लहर में यह दर 1.67 प्रतिशत रही। पहली लहर में मरने वालों में से लगभग 70 प्रतिशत लोग को-माॅर्बिडिटीज़ से पीड़ित थे, जबकि दूसरी लहर में मरने वालों में केवल 41.6 प्रतिशत लोग ही को-माॅर्बिडिटीज़ से पीड़ित थे।
प्रवक्ता ने कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर में 8.95 प्रतिशत मरीजों की मृत्यु घर पर हुई, जबकि पहली लहर में 5.09 प्रतिशत मरीजों का निधन घर पर हुआ। प्रदेश में स्वास्थ्य संस्थानों में कोविड-19 की पहली और दूसरी लहर में हुई मृत्यु दर में कोई विशेष अंतर नहीं है, जिससे यह प्रदर्शित होता है कि प्रदेश सरकार ने समय पर सभी आवश्यक कदम उठाते हुए ऑक्सीजन, रेमडेसिविर, स्टेराॅयड और अन्य दवाइयां उपलब्ध करवाकर और बिस्तर क्षमता में बढ़ोतरी कर तैयारी कर ली थी।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोविड के मामलों और पाॅजिटिविटी दर में गिरावट आई है। गत पांच दिनों में प्रदेश में पाॅजिटिविटी दर लगभग 6 प्रतिशत दर्ज की गई है लेकिन टीकाकरण के साथ-साथ कोविड अनुरूप व्यवहार अपनाते हुए सही ढंग से मास्क पहनना, हाथ धोना और परस्पर दूरी बनाए रखना अत्यंत आवश्यक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

× How can I help you?